पृथ्वी ग्रह

312

पृथ्वी. . . . . . .  एक हरा भरा पानी और जीवन से भरपूर ग्रह  पृथ्वी हमारे सौरमंडल का तीसरा ग्रह है | यह हमारी सौरमंडल के चार मुख्य चट्टानी ग्रहों में शामिल है  और यह सभी चट्टानी ग्रहों में सबसे बड़ा ग्रह है और इसके साथ ही यह हमारी सौरमंडल का पांचवां सबसे बड़ा ग्रह भी है | पृथ्वी एक ऐसा ग्रह है जहां हम सब रहते हैं और हमारे सौरमंडल का इकलौता ग्रह जहां जीवन पनपता है |

नाम
पृथ्वी एकलौता ऐसा ग्रह है जिसका नाम ग्रीक और रोमन मेथोलोजी ( mythology  ) के अनुसार नहीं रखा गया पृथ्वी का नाम अर्थ एक पुराने अंग्रेजी शब्द अर्था ( Eartha )से निकाला गया

संरचना
हमारी पृथ्वी  लगभग गोल है लेकिन इसके घुमाव के कारण ध्रुवों पर यह चपटी है |  हमारी पृथ्वी का एवरेज डायमीटर लगभग 12742 किलोमीटर है| हमारी पृथ्वी का अंदरूनी हिस्सा भी दूसरे चट्टानी ग्रहों की तरह है, यह भी तीन भागों में बंटा  हुआ है |सबसे ऊपरी सतह को Crust कहते हैं  | Crust की मोटाई लगभग 6 किलोमीटर तक है जिसमें मुख्य रुप से सिलिकेट पाई जाती है, और इसके नीचे भारी तत्व पाए जाते हैं जिसे हम मेंटल  कहते हैं, और सबसे नीचे कोर पाई जाती है| पृथ्वी की अंदरूनी कोर पूरी तरह से पथरीली है लेकिन इसके ऊपर की कोर में तरल रूप में तत्व पाए जाते हैं

पृथ्वी के सतह की ऊपरी चट्टानी परतें बड़े-बड़े टुकड़ों में बटी हुई है , जिन्हें हम टेक्टोनिक प्लेट्स कहते हैं यह हमारी पृथ्वी पर सतह  के वह बड़े-बड़े टुकड़े होते हैं जो लगातार गति करते रहते हैं |

सतह
पृथ्वी की कुल सतह का सरफेस एरिया लगभग 510 मिलियन किलोमीटर स्क्वायर है और इसमें से 70.8% एरिया में समुंद्र  फैले हुए हैं ,और इन समुद्रों के नीचे भी पहाड़ ज्वालामुखी समुद्री जीव जंतु वनस्पति और समुद्री मैदान आदि शामिल है |

पृथ्वी के बचे हुए 29.9 प्रतिशत एरिया में पानी नहीं है,  इस जमीन पर हमारी पृथ्वी के सात बड़े महाद्वीप बसे हुए हैं और इसके साथ-साथ इस जमीन पर बड़े बड़े पहाड़ , मरुस्थल , मैदान और अन्य तरह के जमीनी इलाके पाए जाते हैं |

पृथ्वी पर पानी
हमारे पूरे सौरमंडल में पृथ्वी ही एक ऐसा ग्रह है जहां पानी तीनों अवस्था में पाया जाता है और यही पृथ्वी की सबसे बड़ी खासियत है | पानी की वजह से ही हमारी पृथ्वी अंतरिक्ष से देखने पर नीले रंग की दिखाई देती है और इसीलिए इसे The Blue Planet कहा जाता है | पृथ्वी पर बड़ी मात्रा में पानी समुद्रों में जमा है , पृथ्वी के कुल पानी का 97.5 प्रतिशत पानी खारा है , यानी कि वह पानी पीने योग्य नहीं है उसमें बड़ी मात्रा में नमक मिला हुआ है , और बचा हुआ 2.5% पानी है हमारे पीने योग्य | उसी पीने योग्य पानी का 68.7 प्रतिशत पानी  हमारी पृथ्वी के ध्रुवों पर बर्फ के रूप में जमा हुआ है

वातावरण
हमारी पृथ्वी का वातावरण हमारे पूरे सौरमंडल में सबसे खास है क्योंकि वातावरण ही एक ग्रह के लिए ऐसी परिस्थितियों बनाता है कि वहां पर जीवन आसानी से पनप सकें और पृथ्वी ऐसा करने में हर तरह से सक्षम है | हमारी पृथ्वी के वातावरण में 75% नाइट्रोजन और 21 प्रतिशत ऑक्सीजन पाई जाती है और इसके साथ-साथ वाटर  वेपर  (Water Vapour ) कार्बन डाइऑक्साइड और अन्य गैस में भी पाई जाती है |  पृथ्वी के ध्रुवों पर हमारे वातावरण की ऊंचाई लगभग 8 किलोमीटर तक है लेकिन वहीं भूमध्य रेखा के पास वातावरण की ऊंचाई 17 किलोमीटर तक चली जाती है | हमारी पृथ्वी का वातावरण खास तरह से  बना है और यह हमारा जीवन बचाए रखने के लिए भी जिम्मेदार है क्योंकि जैसे ही कोई बाहरी अंतरिक्ष से छुद्र ग्रह और अन्य पिंड हमारी पृथ्वी से टकराते हैं तो वह हमारी पृथ्वी के वातावरण से टकराते ही जल जाते हैं | इसके अलावा हमारी पृथ्वी के वातावरण में  और भी ऐसी कई गैसें हैं  जो पृथ्वी पर जीवन के लिए बहुत जरूरी है | पृथ्वी पर ग्रीन हाउस इफेक्ट ( Green House Effect ) भी इन्हीं गैसों के कारण संभव है और वातावरण भी इसका एक बड़ा सहायक है | यह गैसें  सूर्य से आ रही गर्मी को पृथ्वी से बाहर नहीं निकलने देती और इस कारण हमारी पृथ्वी का तापमान बाहरी अंतरिक्ष के मुकाबले ज्यादा रहता है | अगर हमारी पृथ्वी पर ग्रीन हाउस इफेक्ट ना हो तो हमारी पृथ्वी का  तापमान गिरकर -18 डिग्री सेल्सियस चला जाएगा और उस परिस्थिति में शायद पृथ्वी पर जीवन संभव ही ना हो |

ऑर्बिट और रोटेशन
हमारी पृथ्वी सूर्य से 15 करोड़ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है |  यह सूर्य का एक चक्कर पूरा करने में 365.2564 दिनों का समय लेती है | हमारी पृथ्वी अपनी धुरी पर एक चक्कर  24 घंटों में पूरा करती है | पृथ्वी सूर्य का चक्कर 29.78 किलोमीटर प्रति सेकंड की रफ्तार से लगाती है यह रफ्तार इतनी ज्यादा है कि  हमारी पृथ्वी के डायमीटर ( Diameter of Earth = 12742 km  )जितनी दूरी तय करने में इसे सिर्फ 7 मिनट का समय लगेगा और हमारी पृथ्वी से चंद्रमा तक की दूरी तय  करने में सिर्फ 3.5 घंटों का समय लगेगा |

पृथ्वी का झुकाव
हमारी पृथ्वी अपनी धुरी पर लगभग 23.43 9281 डिग्री झुकी हुई है, और इसी झुकाव के कारण हमारी पृथ्वी पर सूर्य से आ रही रोशनी समय के साथ साथ बदलती रहती है और इसी कारण हमारी पृथ्वी पर मौसम बनते हैं |

मौसम
हमारी धरती पर मुख्य रुप से चार मौसम होती हैं  गर्मी,सर्दी, वसंत और पतझड़ | गर्मियों के समय दिन अक्सर लंबे होते हैं और वही सर्दियों के समय हमें सूर्य कम समय के लिए दिखाई देता है और इसलिए सर्दियों में दिन छोटे होते हैं |  वही हमारी पृथ्वी के ध्रुवों पर दिन बहुत बड़े होते हैं,  ध्रुवों पर 6 महीने का दिन और 6 महीने की ही रातें होती हैं क्योंकि हमारी पृथ्वी के झुकाव के कारण सूर्य की रोशनी ध्रुवों पर 6 महीने तक नहीं पहुंचती है और इसीलिए ध्रुवों पर 6 महीने के लिए दिन और रात होते हैं

पृथ्वी पर जीवन
पृथ्वी हमारे सौरमंडल का इकलौता ग्रह है जहां जीवन संभव है क्योंकि हमारी पृथ्वी पर परिस्थितियां ही कुछ ऐसी हैं जो हमारे सौरमंडल के अन्य ग्रहों पर नहीं पाई जाती , जैसे कि हमारी पृथ्वी सौरमंडल में एक सही जगह पर स्थित है जिसे हम गोल्डीलॉक्स जोन कहते हैं क्योंकि इस गोल्डीलॉक्स जोन ( Goldy locks zone ) में हमें पानी तरल रूप में मिल जाता है , इसके अलावा हमारी पृथ्वी पर वातावरण मौजूद है जिसमें ऑक्सीजन और कार्बन डाइऑक्साइड है जिनसे की जीव जंतु और पेड़ पौधे अपने जीवन के लिए गैसों का आदान प्रदान करते हैं | हमारी पृथ्वी का जियोलाजिकल स्ट्रक्चर , मैग्नेटिक फील्ड, अपनी धुरी पर झुकाव, अपनी धुरी पर घूमने की गति और इसकी जलवायु आदि कुछ ऐसे फैक्टर्स हैं जो पृथ्वी पर जीवन होने का एक बड़ा कारण है |

उपग्रह
चंद्रमा हमारी पृथ्वी का इकलौता कुदरती उपग्रह है | चंद्रमा हमारी पृथ्वी से Tidally Locked  है और इसी वजह से  हमने अभी तक हमारे चंद्रमा का दूसरा हिस्सा नहीं देखा है |चंद्रमा के गुरुत्वाकर्षण बल के कारण ही हमारी पृथ्वी पर समुद्र में ज्वार भाटा आते हैं | हमारा चंद्रमा पृथ्वी से आसमान में चमकने वाली सूर्य के बाद दूसरी सबसे चमकीली वस्तु है |